प्याज के भाव में आई तेजी कब तक रहेगी, जानिए विशेषज्ञों से सटीक जानकारी..

प्याज के भाव Onion prices में तेजी का सिलसिला शुरू हो गया है यह तेजी कब तक रहेगी जानिए..

Onion prices : जून  माह के अंतिम सप्ताह में एक बार फिर  प्याज के भाव में तेजी का रुख बनाने लगा है  प्याज के भाव लगातार तेज हो रहे हैं। मंडियों में प्याज के दाम 3000 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गए हैं। जबकि प्याज की नई फसल आने में अभी काफी समय है ऐसे में यह भाव कब तक रहेंगे एवं आने वाले समय में प्याज के भाव Onion prices की क्या स्थिति रहेगी आईए जानते हैं विशेषज्ञों से सटीक जानकारी..

सरकारी नियंत्रण के बावजूद प्याज के भाव में आई तेजी

गौरतलब है कि अप्रैल माह में प्याज के भाव Onion prices में अचानक तेजी आई थी, जिसके बाद केंद्र सरकार ने प्याज के निर्यात पर 40% निर्यात ड्यूटी लगा दी। सरकार ने निर्यात ड्यूटी लगाने के साथ खुले बाजार में नेट के द्वारा  प्याज की बिक्री भी की जिसके परिणाम स्वरूप  प्याज के भाव में गिरावट हो गई थी प्याज के भाव Onion prices 2000 रुपए प्रति क्विंटल के करीब हो गए थे। लेकिन एक महीने यह स्थिति रहने के बाद अब फिर से प्याज के भाव में लगातार तेजी आ रही है।

लासलगांव बाजार समिति के अनुसार प्याज का भंडारण लगातार काम हो रहा है विशेषज्ञ बताते हैं कि महाराष्ट्र में प्याज का भंडारण अब मात्र 15% प्याज ही बचा है। नई फसल दूर है। ऐसे में जमाखोरों को मौका मिल गया है। दाम बढ़ने की रफ्तार ज्यादा, हो रही जमाखोरी महाराष्ट्र सब्जी उत्पादक संगठन के अध्यक्ष सुरेश गढ़वे कहते हैं, रक्षाबंधन तक  प्याज के दाम Onion prices में और बढ़ोतरी हो सकती है।

यह है  प्याज में तेजी आने का कारण

ज्ञात होगी प्याज की सबसे अधिक खेती महाराष्ट्र में होती है। दूसरे नंबर पर मध्य प्रदेश एवं इसके बाद अन्य राज्यों में प्याज की खेती होती है। मौसम की प्रतिकूलता के कारण पिछले सीजन में प्याज की खेती को काफी नुकसान हुआ जिसके कारण प्याज का उत्पादन घटा।

कृषि विशेषज्ञ बताते हैं कि प्याज का स्टॉक अपने न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया है किसानों के पास प्याज का स्टॉक नहीं है। इसी स्थिति को देखते हुए  प्याज के स्टॉकिस्ट सक्रिय हो गए हैं। प्याज का स्टॉक करने में लगे हुए हैं। जमाखोरी बढ़ाने के कारण दाम में बढ़ोतरी हुई है।

महाराष्ट्र की मंडियां में  प्याज के दाम Onion prices में लगातार बढ़ोतरी हो रही है इसका असर देशभर की मंडियों पर पढ़ रहा है। नासिक में खुदरा बाजार में प्याज फुटकर 40 रु. किलो है।कोल्हापुर मंडी में प्याज के भाव अधिकतम 30 रू क्विंटल पर पहुंच गए हैं। वहीं पुणे मंडी में प्याज के भाव 30 रुपए प्रति क्विंटल रहे।

एशिया की सबसे बड़ी प्याज मंडी लासलगांव में 20 में से 10 जून के बीच थोक दाम 1500 रु. प्रति क्विंटल से करीब 50% बढ़कर 3000 रु. क्विंटल तक पहुंच गए। आने वाले कुछ दिनों में  प्याज के भाव Onion prices में फिर तेजी की संभावना बढ़ गई है। महाराष्ट्र की थोक मंडियों में भी जबरदस्त उछाल देखा जा रहा है।

 प्याज के भाव में आई तेजी कब तक रहेगी

प्याज उत्पादन में महाराष्ट्र की हिस्सेदारी 43% और मप्र की 16% है। कर्नाटक और गुजरात मिलकर 9% प्याज उगाते हैं। जानकारों का कहना है कि गर्मी में प्याज उत्पादन ठीक नहीं था कर्नाटक में जरूर सूखे के कारण प्याज की फसल खराब हुई, लेकिन नवंबर से आवक अच्छी हो जाएगी। वहीं, मप्र में प्याज की फसल ज्यादा खराब नहीं है। विशेषज्ञ बताते हैं कि वर्तमान में  प्याज के भाव Onion prices में जो तेजी आई है, यह जमाखोरी के कारण आई है। बाजार में स्टॉक की कमी होने से जमाखोरी बढ़ने लगी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *